मधुमक्खी के डंक मारने के घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार



आज हम कुछ ऐसे ही टॉपिक के बारे में बात करने जा रहे हैं जो शायद आपने कभी नहीं देखे होंगे। हम बात कर रहे हैं मधुमक्खी के डंक की। मधुमक्खियां खाद्य श्रृंखला का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। दुनिया के मशहूर वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन ने कहा था कि अगर मधुमक्खियों का अस्तित्व खत्म हो गया तो 4 साल बाद इंसानों का अस्तित्व भी खत्म हो जाएगा।

मधुमक्खियां घर के आसपास के बगीचों में पाई जाती हैं। इसलिए वे हमेशा आमने-सामने आ जाते हैं। और अगर यह किसी को काट ले तो सारा की सेहत खराब कर देता है क्योंकि इसके काटने से बहुत ही कम समय में गंभीर सूजन और दर्द होता है, जल्दी इलाज न करने पर यह सूजन भी पैदा कर सकता है।

तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर आप कभी भी इन स्थितियों का सामना करते हैं, तो आपको इन उपयोगी घरेलू उपचारों को अपने दिमाग में रखना चाहिए ताकि दर्द तुरंत ठीक हो सके।

मधुमक्खी के डंक मारने के लक्षणों के बारे में पहले चर्चा करना जरूरी है क्योंकि कई बार लोगों को यह भी नहीं पता होता है कि किसे डंक मारा गया है और यह जानलेवा साबित हो सकता है।

एक छोटा लाल तिल काटने की जगह तिल बन जाता है। इसे देखकर आप आसानी से जान सकते हैं कि किसी व्यक्ति को मधुमक्खी ने काटा है या नहीं।

जब आपको लगे कि आपको मधुमक्खी ने काट लिया है, तो सबसे पहले डंक वाली जगह पर किसी लोहे या किसी सख्त वस्तु को रगड़ें। डॉक्टर भी इसकी सलाह देते हैं क्योंकि इसे रगड़ने से मधुमक्खी के डंक निकल जाते हैं। जो सूजन पैदा कर सकता है।

मीठा सोडा

यह भी एक उपयोगी घरेलू उपाय साबित हो सकता है, बेकिंग सोडा और पानी का घोल बनाकर काटे हुए स्थान पर लगाएं। यदि एक वक्र से राहत नहीं मिलती है, तो आप समाधान को फिर से लागू कर सकते हैं।

टूथपेस्ट

इस ट्रिक को कई बार करते देखा जा सकता है। काटने की सूजन को दूर करने के लिए भी टूथपेस्ट का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। टूथपेस्ट में मौजूद अल्केन तत्व काटने की अम्लता को शांत करता है। वैसे तो टूथपेस्ट हर घर में मिलने वाली एक बहुत ही आम चीज है, लेकिन इसे आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

एलोवेरा भी आजकल हर घर में आसानी से मिल जाता है, इसका इस्तेमाल त्वचा संबंधी उपचारों में किया जाता है। अगर आपके घर के पास एलोवेरा का पौधा है तो उसकी पत्तियों को काटने के बाद उसके अंदर जेल जैसा पदार्थ काटे हुए स्थान पर लगा सकते हैं, इससे सूजन से राहत मिल सकती है।

मधुमक्खी के डंक के बाद सूजन आना एक बहुत ही सामान्य घटना है, और ज्यादातर मामलों में इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन अगर उपरोक्त घरेलू उपायों के बाद भी किसी व्यक्ति को राहत नहीं मिल रही है और एलर्जी जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। इसके अलावा मधुमेह के मरीजों को भी इसमें एक बार डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

Previous Post Next Post