चक्कर आते ही अपनाएं यह घरेलू उपाय कुछ ही मिनटों में मिलेगा आराम



चक्कर आने पर लोग अक्सर घबरा जाते हैं और इसे किसी बड़ी बीमारी से जोड़कर देखने लगते हैं। चक्कर आने की चिंता व्यक्ति के लिए स्वाभाविक है, लेकिन आपको बता दें कि सभी चक्कर आना खतरनाक नहीं होता है। चक्कर आने का मतलब यह भी है कि आप शारीरिक रूप से कमजोर हैं।

हालांकि, कभी-कभी यह कुछ गंभीर बीमारियों से भी जुड़ा होता है। कई बार एनीमिया, लो बीपी, कमजोर दिल, ब्रेन ट्यूमर और तनाव के कारण भी चक्कर आते हैं। ऐसे में हम आपको चक्कर आने के कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं। हम आपको बताएंगे कि चक्कर आने पर आप क्या उपाय कर सकते हैं और तुरंत आराम पा सकते हैं।

आमतौर पर जब किसी व्यक्ति को चक्कर आने का अनुभव होता है तो उसके कई प्रकार के लक्षण होते हैं। चक्कर आने से घबराहट, जी मिचलाना और कानों में सीटी बजने लगती है। इस दौरान कई लोग सुनने की क्षमता भी खो देते हैं। वहीं कुछ लोगों को कानों में भारीपन का अहसास होता है।

चक्कर आना चिकित्सकीय रूप से नॉनपेरॉक्सिस्मल पोजिशनल वर्टिगो (बीपीपीवी) के रूप में जाना जाता है। यह समस्या वयस्कों और वृद्ध लोगों में अधिक आम है। यद्यपि समस्या अपने आप हल हो जाती है क्योंकि कमजोरी कम हो जाती है, किसी दवा के दुष्प्रभाव, मस्तिष्क विकार या किसी अन्य चिकित्सा स्थिति के कारण डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

सूखा धनिया जी मिचलाना, घबराहट और चक्कर आने जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है। सदियों से इसका इस्तेमाल ऐसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जाता रहा है। इसके सेवन से शारीरिक कमजोरी तो दूर होती ही है साथ ही चक्कर आने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। इसका सेवन करना भी बहुत आसान है।

इसके लिए एक चम्मच सूखा धनिया और सूखा आंवला रात भर पानी में भिगो दें। इस पानी को छानकर सुबह पी लें। एक और तरीका है। हो सके तो इसे गुड़ और धनिया के साथ चबाएं। इसके सेवन से न सिर्फ आपका पेट साफ रहता है, बल्कि आपका शरीर प्राकृतिक रूप से मजबूत भी होता है। आंवला और धनिया शरीर के कई विकारों को दूर करता है।

अगर आपको चक्कर आ रहा है तो अदरक का एक छोटा टुकड़ा अपने मुंह में डालकर टॉफी की तरह चबाएं। अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं तो नियमित रूप से अदरक की चाय पीना शुरू कर दें। अदरक शरीर में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है और आपके दिमाग को भी आराम देता है। यह मतली और घबराहट की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है।

उपरोक्त उपायों से आपको सिर्फ 6 से 7 दिनों में आराम मिलना शुरू हो जाएगा। अगर इसके बाद भी आपको राहत महसूस न हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। क्योंकि कई बार गंभीर बीमारी के कारण चक्कर भी आ जाते हैं। शरीर में पोषक तत्वों की अत्यधिक कमी होने पर भी चक्कर आने लगते हैं।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

Previous Post Next Post