यह चीज लाखों रुपए की दवाओं को भी टक्कर दे सकती है


दोस्तो Red Lentil (मसूर दाल) फायदेमंद होने के साथ-साथ लाभकारी दाल भी है। जो खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। दाल में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसका प्रभाव गर्म होता है। इसके साथ ही भारत के लगभग सभी भागों में मसूर की खेती की जाती है।

यह चीज लाखों रुपए की दवाओं को भी टक्कर दे सकती है



आयुर्वेद के अनुसार, दाल एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है, जो पोषक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर होती है। दरअसल, Red Lentil (मसूर की दाल) में पाए जाने वाले पोषक तत्व और औषधीय गुण सेहत के साथ-साथ शरीर को कई बीमारियों से भी बचाते हैं। तो आइए जानते हैं Red Lentil Benefits (मसूर की दाल) के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में।

बच्चों के लिए अमृत समान है ये चीज, बनेंगे होशियार और हड्डियाँ भी होंगी मजबूत

अगर हम दाल की बात करें तो इसमें कई पोषक तत्व होते हैं। जिसमें एनर्जी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम और विटामिन सी (Energy, Protein, Carbohydrate, Fiber, Calcium, Iron, Potassium and Vitamin C) जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो आपके शरीर को कई तरह की बीमारियों से दूर रखता है।

दाल में पाया जाने वाला फाइबर पाचन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। जो पाचन में सुधार करता है और भोजन को अच्छे से पचाता है। इसके अलावा इसमें मौजूद फाइबर हमें कब्ज, अपच और गैस जैसी समस्याओं से भी दूर रखता है।

जो लोग डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे हैं उनके लिए भी दाल फायदेमंद होती है। दाल में ऐसे तत्व होते हैं जो ब्लड शुगर को कम करते हैं और डायबिटीज से निजात दिलाते हैं।

दाल में मैग्नीशियम और फास्फोरस (Magnesium and Phosphorus) जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो हड्डियों के साथ-साथ दांतों को भी मजबूत बनाने का काम करते हैं। ऐसे में दाल के सेवन से कमजोर हड्डियां मजबूत होती हैं और जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है। इससे आप दांतों को भी मजबूत कर सकते हैं।

शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए दाल का सेवन करना चाहिए। क्योंकि शरीर में आयरन की कमी खून की कमी के कारण होती है। हालांकि दाल पर्याप्त मात्रा में पाई जाती है, जो शरीर में आयरन की कमी को पूरा करती है, खून को बढ़ाती है और एनीमिया के मरीजों को बचाती है।

गर्भावस्था के दौरान दाल का सेवन गर्भवती महिलाओं में शारीरिक कमजोरी को दूर करने का काम करता है। इसके अलावा दाल में फोलिक एसिड पाया जाता है जो गर्भ में पल रहे बच्चे और गर्भवती महिला दोनों के लिए फायदेमंद होता है।

अगर आप वजन बढ़ा (Weight Gain ) कर थक चुके हैं तो आपको दाल का सेवन करना चाहिए। इसमें फाइबर के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है, जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और पेट को लंबे समय तक भरा रखता है। इससे आपको भूख नहीं लगती है।

पेट की सभी बीमारियों का इलाज, 100% राहत पाने के लिए जाने

दाल में पाए जाने वाले पोषक तत्व शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखने में मदद करते हैं। जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है तथा शरीर को सर्दी, खांसी, कफ आदि जैसी सामान्य बीमारियों से भी छुटकारा दिलाता है।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

Previous Post Next Post