पृथ्वी पर सबसे Strong चीज क्या है? जाने


भगवान बुद्ध के साथ कई प्रेरक घटनाएं जुड़ी हुई हैं और ये घटनाएं कई तरह से हमारे जीवन के सही रास्ते को उजागर करती हैं। अगर एक बार इन घटनाओं को जीवन में समाहित कर लिया जाए तो हमारा जीवन सफल हो सकता है। इन घटनाओं की सच्ची समझ ही जीवन को उत्थान के पथ पर ले जाती है। तो आइए जानते हैं भगवान बुद्ध के जीवन की एक घटना 

पृथ्वी पर सबसे मजबूत चीज क्या है? भगवान बुद्ध के जीवन की एक बहुत अच्छी घटना..


भगवान गौतम बुद्ध एक बार अपने शिष्यों के साथ एक बहुत ही पहाड़ी क्षेत्र को छोड़कर जा रहे थे। ऐसे पर्वतीय क्षेत्र को छोड़ते समय एक शिष्य के मन में एक प्रश्न उठा और उसने 

क्या सबसे Strong पहाड़ है ?

भगवान बुद्ध से पूछा, 'क्या इन मजबूत चट्टानों (Mountain) से अधिक शक्तिशाली (Strong/Powerful) कोई है? 

तब बुद्ध ने उत्तर दिया, "इन पत्थरों से लोहा अधिक शक्तिशाली (Strong/Powerful) है। जबकि लोहे (iron) का झटका एक बड़ी चट्टान (Mountain) को भी तोड़ सकता है।" तब शिष्य ने कहा, 'तो लोहा अधिक शक्तिशाली (Strong/Powerful) है। ?'

क्या सबसे Strong लोहा (iron) है ?

शिष्य के यह कहने पर भगवान बुद्ध ने फिर कहा, "नहीं, लोहा शक्तिशाली नहीं है। लेकिन आग (Fire) उससे भी ज्यादा शक्तिशाली है। क्योंकि आग लोहे (iron) को पिघला देती है।" तो फिर शिष्य ने कहा, 'तो क्या इसका मतलब यह है कि आग (Fire) सबसे शक्तिशाली है?'

क्या सबसे Strong आग (fire) है ?

 तब भगवान बुद्ध हँसे और फिर उत्तर दिया, "नहीं, अग्नि शक्तिशाली नहीं है। लेकिन पानी (Water) का मतलब है पानी शक्तिशाली है। क्योंकि पानी आग को ठंडा करता है।" यह कह कर शिष्य के मन में विचार आया। 

क्या सबसे Strong पानी (Water) है ?

तब बुद्ध ने शिष्य की जिज्ञासा को शांत करने के लिए फिर कहा, 'पानी भी शक्तिशाली नहीं है, क्योंकि पानी की दिशा हवा बदलती है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हवा शक्तिशाली है।'

क्या सबसे Strong  हवा (Air) है ?

भगवान बुद्ध ने उस समय कहा था कि दुनिया में सबसे शक्तिशाली चीज केवल मानव इच्छाशक्ति है। क्योंकि पृथ्वी, जल, वायु, अग्नि और आकाश हमारी इच्छाशक्ति से ही नियंत्रित होते हैं। इस संकल्प की शक्ति से ही हमारे भीतर कठोरता, गर्माहट, शीतलता नियंत्रित होती है। इसलिए संकल्प सबसे शक्तिशाली है। इस दुनिया में कुछ भी ज्यादा शक्तिशाली नहीं है। इस प्रकार भगवान बुद्ध ने हमें एक छोटी सी घटना के माध्यम से जीवन में दृढ़ संकल्प का महत्व समझाया है।

हमारे देश के कई महात्माओं ने बार-बार मजबूत मनोबल पर जोर दिया है। जिसमें स्वामी विवेकानंद, दयानंद सरस्वती, भगवान बुद्ध आदि महान लोक बने। जिन्होंने हमेशा संकल्प पर अधिक बल दिया है। उन्होंने कहा है कि अगर आपका संकल्प मजबूत है तो सफलता जरूर मिलेगी। लेकिन अगर यह कमजोर है, तो असफलता पीछा करेगी। भगवान बुद्ध ने कहा था कि अग्नि लोहे से अधिक बलवान है, जबकि जल अग्नि से अधिक बलवान है।

कहा जाता है कि चट्टान यानि पर्वत बलवान होता है तो कौन बलवान हो सकता है? ऐसे प्रश्न का उत्तर शायद मानव संकल्प है। जीवन में दृढ संकल्प हो तो ही मनुष्य ऊँचा उठता है, जीवन में दृढ संकल्प न हो तो मनुष्य जीवन में कभी भी सफलता प्राप्त नहीं कर सकता। तो आज हम आपको आपकी दृढ इच्छा शक्ति के बारे में बताएंगे। जो सभी के जीवन में बहुत काम आएगा। तो इस article को अंत तक पढ़े।


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

Previous Post Next Post