आयुर्वेद द्वारा खांसी के घरेलू उपचार रात भर पुरानी खांसी भी गायब हो जाएगी



जिन लोगों को हमेशा सर्दी-खांसी की समस्या रहती है, उनके लिए सर्दी-खांसी के ये घरेलू उपाय बेहद फायदेमंद होते हैं, ये उपाय सर्दी-खांसी को नियंत्रित करने में काफी मददगार होंगे।

अक्सर बरसात और ठंड के मौसम में हमें सर्दी और खांसी का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है क्योंकि बरसात और ठंड के मौसम में वातावरण ठंडा और अधिक आर्द्र हो जाता है जिससे हमें सर्दी खांसी हो जाती है।

खांसी के अन्य कारण वायरस और बैक्टीरिया हैं। जब यह हमारे शरीर में प्रवेश करता है, तो हमें सर्दी, खांसी या कोई अन्य बीमारी हो जाती है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि यह किस तरह का वायरस या बैक्टीरिया है।

एलर्जी भी एक कारण हो सकता है, बहुत से लोगों को किसी चीज से एलर्जी होती है और उसके संपर्क में आने पर उन्हें सर्दी खांसी का सामना करना पड़ता है।

आइए बात करते हैं सर्दी-खांसी के घरेलू उपचारों के बारे में जिनसे हम सर्दी-खांसी से जल्दी छुटकारा पा सकते हैं।

गर्म पानी पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, गर्म पानी पीने से सर्दी-खांसी बहुत जल्दी ठीक हो जाती है। अक्सर हमारे स्वास्थ्य पर पानी में बैक्टीरिया का असर होता है, लेकिन जब हम पानी को गर्म करते हैं तो उसमें मौजूद सभी तरह के बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। जो लोग रोजाना गर्म पानी पीते हैं उन्हें सर्दी-खांसी होने की संभावना कम होती है। गर्म पानी पीने के और भी कई फायदे हैं जैसे पेट साफ रखना, भोजन का बेहतर पाचन, कब्ज, एसिडिटी आदि।

काढ़ा सर्दी-खांसी में बहुत असरदार आयुर्वेदिक औषधि है। काढ़ा पीने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है। हम प्राचीन काल से इसका उपयोग सर्दी, खांसी और अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को ठीक करने के लिए करते आ रहे हैं। जिन लोगों को सर्दी-खांसी की समस्या नहीं है, उन्हें भी काढ़े का सेवन करना चाहिए, जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और भविष्य में बीमार होने का खतरा भी कम होगा।

वैसे तो हमें रोजाना दूध पीना चाहिए और दूध पीने के कई फायदे होते हैं, लेकिन जब हम दूध में हल्दी मिलाते हैं तो दूध की ताकत दोगुनी हो जाती है, हल्दी में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो हमें बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं।

तुलसी भी एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, तुलसी का इस्तेमाल भी काफी समय से किया जा रहा है।

आइए जानते हैं तुलसी के इस्तेमाल से सर्दी, खांसी और जुकाम को कैसे ठीक किया जा सकता है। सर्दी-खांसी ठीक करने के लिए तुलसी का काढ़ा पीने से सबसे ज्यादा फायदा होता है तुलसी के पत्तों को पीसकर या पीसकर तुलसी का काढ़ा बनाएं और इसमें काली मिर्च, गुड़ या चीनी मिलाकर अच्छी तरह उबालकर पीस लें। काढ़े के प्रयोग से सर्दी-खांसी से जल्दी आराम मिलेगा।

अदरक एक बहुत ही गुणकारी औषधि है, अदरक का उपयोग कई रोगों के उपचार में भी किया जाता है।

आपने अपने दादा-दादी या घर के बड़ों से अदरक की चाय के बारे में सुना होगा। जब हम अदरक को चाय में मिलाकर पीते हैं तो हमें सर्दी, फ्लू, गले में खराश, कफ के साथ खांसी, सूखी खांसी और कई अन्य समस्याओं से राहत मिलती है।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

Previous Post Next Post